दुर्ग : पिता का सपना पूर्ण करने बेटी प्रेक्षा ने लिख डाली 60 घंटों में एक पूरी किताब, पिता चाहते थे बेटी भारतीय इतिहास के राजाओं पर लिखें एक किताब

  • 01-December-2021

दुर्ग न्यूज। औद्योगिक नगर दुर्ग निवासी स्व. डॉन गोधा की इच्छा थी कि प्रेक्षा बड़ी होकर एक ऐसी किताब लिखे, जिसमें भारत के राजाओं का वर्णन हो और वह किताब बेस्ट सेलर बुक बनकर भारत के कोने-कोने में पढ़ी जाए।


उसी स्वप्न को पूरा करने के लिए प्रेक्षा ने 'इतिहास के पन्नों से' किताब मात्र 60 घंटों लिखकर एक नया कीर्तिमान बनाया है। 03 साल की उम्र से कविताएँ रच रही छत्तीसगढ़ दुर्ग निवासी 13 वर्षीय प्रेक्षा डाॅन गोधा 'परी' की इस पुस्तक में लिखी कविताओं की जानकारी गूगल, यूट्यूब, फेसबुक और कुछ किताबों से ली गई है।


पुस्तक की कवर डिजाइन तथा अंदर के पन्नों के चित्रादि छोटी बहन महक डाॅन गोधा 'मासुम' ने तैयार किये है। प्रेक्षा की माँ प्राजक्ता डाॅन गोधा 'प्रतिभा' ने बताया कि प्रेक्षा ने किताब का लेखन सबसे कम समय में पूर्ण किया है जो किसी कीर्तिमान से कम नहीं है।


यदि डेली रूटीन का समय हटाया जाए जैसे सोना, खाना, खेलना तो मात्र 37 घण्टे में पुस्तक की कुल 35 रचनाएँ लिख दी। पुस्तक लेखन के दौरान प्रेक्षा के अन्य दैनिक क्रियाकलाप प्रभावित नहीं हुये। पढ़ाई-लिखाई तथा खेलकूद के लिए भी वह पूर्व समयानुसार ही करती थी।

प्रेक्षा की इस एकल बुक में 30 से अधिक राजा-महाराजाओं पर कविताएं है। पुस्तक इतिहास के पन्नों की प्री-बुकिंग शुरू हो चूकी है। जो भी पुस्तक की प्रति अपने लिए बुक करना चाहते है वे 7974674042 नम्बर पर काॅल/मैसेज कर पुस्तक की प्रति बुक कर सकते है।


Related Articles

Comments
  • No Comments...

Leave a Comment