रायपुर : कांग्रेस नेता दिग्विजय द्वारा दिए गए सरस्वती शिशु मंदिर पर बयान का धर्म सेना ने किया विरोध :  जिला संयोजक धनंजय गिरी ने कहा - दिग्विजय की मानसिकता हिन्दू विरोधी जहरीली हो गई है

  • 28-September-2021

रायपुर न्यूज। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह द्वारा दिए गए सरस्वती शिशु मंदिर पर बयान को लेकर लगातार विरोध के स्वर उठ रहे हैं। छत्तीसगढ़ में रायपुर के धर्म सेना के जिला संयोजक, धनंजय गिरी गौस्वामी ने दिग्विजय सिंह के बयान पर कड़ा प्रहार करते हुए कहा कि स.शि.मं. से अध्ययन कर निकले छात्र मेधावी होते है और राष्ट्र निर्माण मे सहयोग करते है।

आईएएस हो , राजनेता हो , वैज्ञानिक हो या शिक्षक हो अधिकांश छात्रो का संबंध सरस्वती शिशु मंदिर से ही होता है। धनंजय ने कहा कि दिग्विजय की मानसिकता हिन्दू विरोधी जहरीली हो गई है।

इसी कारण से उन्हे हर जगह केवल जहर ही दिखाई दे रहा है, उन्हे इलाज की आवश्यकता है, आपदा के समय सदैव सहायता के लिए तत्पर व राष्ट्र निर्माण में सहयोगी आरएसएस से उनकी आपत्ति यह पहली दफा नहीं है, उनके इस बयान का हम पूरजोर निन्दा करते है।

धनंजय गिरी गोस्वामी ने कहा कि सरस्वती शिशु मंदिर अपनी अमिट छाप अपने विद्यार्थियों पर छोड़ती है, जिसकी बदौलत ये सनातन धर्म को जीवित कर रखे हैं और अपनी कला का प्रदर्शन भारत ही नही अपितु पूरे विश्व मे कर रहे हैं। ये शिशु मंदिर के विद्यार्थियों की खूबी रही है और दिग्विजय सिंह का इस तरह का बयान की हम घोर निंदा करते हैं।

इस संबंध में सरस्वती शिशु मंदिर तिलकनगर के पूर्व छात्रगण जिसमे धनंजय गोस्वामी एवम उनके सहपाठियों ने दिग्विजय सिंह के बयान पर तीव्र प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि हम भी शिशु मंदिर के छात्र रहे हैं और हमारे साथ पढ़े छात्र छात्राएं राजनीति क्षेत्र, व्यवसायिक , प्रशासन सहित समस्त क्षेत्रो में अपना परचम लहरा रहे है और इसका श्रेय सिर्फ शिशु मंदिर को जाता है।

इस पवित्र शिक्षण संस्थान के बारे मे इस तरह की अशोभनीय बयान की भर्त्सना करते हैं, अगर दिग्विजय सिंह द्वारा माफी नहीं मांगी नही जाती तो हम उनके खिलाफ न्यायिक कार्यवाही करने पर मजबूर होंगे।


Related Articles

Comments
  • No Comments...

Leave a Comment