कलेक्टेट श्री मौर्य ने धान उपार्जन केंद्र अमली पारा का आकस्मिक निरीक्षण किया , धान खरीदी में लापरवाही और अनियमितता पाए जाने पर की कार्रवाई धान खरीदी में घोर लापरवाही सहकारी समिति के सहायक प्रबंधक और कम्प्यूटर ऑपरेटर तत्काल निलंबित

  • 20-December-2019

राजनांदगांव न्यूज़ । कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य ने धान खरीदी कार्य में घोर लापरवाही और अनियमितता बरतने पर खैरागढ़ विकास खंड के सहकारी समिति अमलीपारा के सहायक समिति प्रबंधक श्री देव करण वर्मा तथा कम्प्यूटर ऑपरेटर श्री डेविड टंडन को तत्काल निलंबित कर दिया है। कलेक्टर के निर्देश पर उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं राजनांदगांव ने कल ही  दोनों कर्मचारियों के निलंबन के आदेश जारी कर दिए हैं।



  कलेक्टर श्री मौर्य ने  अमलीपारा के धान उपार्जन केंद्र  का आकस्मिक निरीक्षण किया। निरीक्षण में धान खरीदी के संबंध में राज्य शासन द्वारा दिए गए दिशा निर्देशों का खुल्ला उलंघन पाया गया। धान खरीदी में पूरी अव्यवस्था  पाई गई।  धान खरीदने के लिए गांव और तिथिवार किसानों को टोकन जारी करने में प्रभारी द्वारा मनमानी की गई। भरे बारदानों में सही तरीके से ठप्पा भी नही लगाया गया है। बारदाने रजिस्टर भी संधारित नही किया गया है। कलेक्टर श्री मौर्य ने इन अव्यवस्थाओं पर गंभीर नाराजगी जताई और दोनों कर्मचारियों को तत्काल निलंबित करने के निदेश दिए।


श्री मौर्य ने  धान उपार्जन केंद्र अमलीपारा में कम्प्यूटर कक्ष, लेखा कक्ष का निरीक्षण करने के बाद धान बेचने आए किसानों से  चर्चा की। किसानों ने शिकायत करते हुए बताया कि उन्हें धान बेचने के लिए बार-बार धान उर्पाजन केन्द्र आना पड़ रहा है। किसानों ने बताया कि पंजीयन 04 दिसंबर को हुआ था और टोकन के लिए 11 दिसंबर का समय दिया गया था।  इसके बाद निर्धारित दिन में आने के बाद भी न ही समय पर टोकन जारी किया जा रहा है और न ही समय पर धान की खरीदी की जा रही है। जिसके कारण किसानों को रोज धान खरीदी केंद्र में आकर परेशानी उठानी पड़ रही है। कलेक्टर ने इस शिकायत को गंभीरता से लेते हुए समिति प्रबंधक और ऑपरेटर को तत्काल निलंबित करने के निर्देश दिए। कलेक्टर श्री मौर्य ने किसान पंजीयन रजिस्टर और टोकन पंजी का  बारीकी से निरीक्षण किया जिसमें गड़बड़ी पायी गई। पंजीयन का रिकार्ड अपडेट नही किया गया था। धान खरीदी पंजीयन रजिस्टर में लिखे क्रम के आधार पर नहीं किया गया था। जिन किसानों के नाम बाद के क्रम में थे उनके धान पहले ही ले लिया गया था और तय सीमा से अधिक मात्रा में धान की खरीदी की गई थी।

श्री मौर्य ने चेतावनी देते हुए कहा कि सभी किसानों का धान खरीदना है और किसानों को किसी भी प्रकार से दिक्कत नही होनी चाहिए। श्री मौर्य ने कहा कि धान बेचने आए किसानों के मोबाईल नंबर की पंजी बनाए और जिस दिन टोकन दिया जाएगा उसी दिन ही किसानों को बुलाया जाए, ताकि  किसानों को बार-बार न आना पड़े।  श्री मौर्य ने  बरसात को देखते हुए धान के रख-रखाव, जमीन की नमी एवं पानी से बचाने ड्रेनेज, तारपोलीन व स्टेकिंग की व्यवस्था समुचित नही पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की और नोडल अधिकारी को मापदंडो के अनुरूप इसे तत्काल दुरुस्त कराने के निर्देश दिए।


इस संबंध में उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं द्वारा जारी आदेश के अनुसार अमलीपारा में धान उपार्जन केंद्र में धान खरीदी के सुचारू संचालन के लिए जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के खैरागढ़ शाखा के पर्यवेक्षक श्री मकसूदन साहू तथा कंप्यूटर कार्य के लिए श्री विद्या शंकर चंदेल  को डयूटी लगाई गई है। कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान एसडीएम खैरागढ़ सुश्री निष्ठा पाण्डेय, उप पंजीयक सहकारी संस्थाएं श्री जॉन खलको, जिला खाद्य अधिकारी श्री किशोर कुमार सोमावार, जिला सहकारी  बैंक के सीईओ श्री सुनील वर्मा, सहायक खाद्य अधिकारी श्री  पाढी भी उपस्थित थे।


Related Articles

Comments
  • No Comments...

Leave a Comment