राजनांदगाव न्यूज़ ....आदर्श गौठान मोखला में किसानों ने किया बेलर मशीन द्वारा पैरादान

  • 17-December-2019

 शासन की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी अंतर्गत राजनांदगांव विकासखंड के आदर्श गौठान मोखला में पशुओं की चारा व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए किसानों द्वारा पैरा दान किया गया है। कृषि विभाग राजनांदगांव द्वारा मोखला में राउण्ड स्ट्रा बेलर मशीन के माध्यम से पैरा एकत्र कर ग_े बनाने का जीवंत प्रदर्शन किया गया, जिसे देखने के लिये बहुत संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित थेे। बेलर मशीन द्वारा 1 घण्टे में एक एकड़ खेत के पैरा एकत्र किया जा सकता है। बेलर से 18-20 किलो गठ्ठा तैयार होता है। 1 एकड़ में 35 से 40 ग_े तैयार होते हैं। किसानों में बेलर मशीन की कार्य प्रणाली से काफी उत्साह देखा गया है। सभी किसानों ने अपने खेतों में बेलर मशीन से पैरा एकत्र कर गौठान में पैरादान करने के लिए सहमति जताई। पैरादान कार्यक्रम में श्री तुकज साहू ने अपने खेत में बेलर मशीन से पैरा एकत्र कर गौठान में दान किया। जिले के समस्त आदर्श गौठानों में बेलर मशीन का जीवंत प्रदर्शन एवं पैरादान किया जाएगा। बेलर मशीन द्वारा पैरादान कार्यक्रम में मोखला ग्राम पंचायत की सरंपच श्रीमती दीपक मंडावी, सहायक कृषि अभियंता, कवर्धा श्री तीरथ ठाकुर, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, राजनांदगांव श्री ओ.पी. सिंह, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, श्रीमती सुषमा शुक्ला, कृषि विभाग के अधिकारी-कर्मचारी एवं ग्रामीण जन उपस्थित हुए। बीज निगम द्वारा कैम्प लगाकर उन्नत कृषि यंत्रों की जीवंत प्रदर्शनी भी लगाई गई। किसान बेलर मशीन चैम्पस के माध्यम से खरीद सकते हैं। इस मशीन की कीमत 4.25 लाख रूपए है। मशीन की खरीदी में राज्य शासन द्वारा अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के किसानों को 50 प्रतिशत तथा पिछड़ा वर्ग और सामान्य वर्ग के किसानों को 40 प्रतिशत का अनुदान दिया जाता है। कार्यक्रम में अन्य कृषि यंत्रों में शासन द्वारा मिलने वाले अनुदान के बारे में जिला प्रबंधक, छत्तीसगढ़ राज्य बीज एवं कृषि विकास निगम लिमिटेड राजनांदगांव, श्री आर.के. श्रीवास्तव द्वारा विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई। आदर्श गौठान मोखला में महिला कृषक समूह को मधुमक्खी पालन एवं इनसे होने वाले लाभ के बारे में सहायक परियोजना अधिकारी ÓÓआत्माÓÓ योजना श्री राजू कुमार साहू ने विस्तार से जानकारी दी। अलसी फसल की खेती की जानकारी भी किसानों को दी गई। किसानों को बीज उत्पादन कार्यक्रम से जुडऩे तथा फसल प्रदर्शन का लाभ लेने के संबंध में वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी द्वारा विस्तार से बताया गया।


Related Articles

Comments
  • No Comments...

Leave a Comment